What is GST – वस्तु एवं सेवा कर (GST) क्या है? क्या है इसके फायदे

What is Goods and Service Tax (GST) in Hindi – गुड्स एंड सर्विस टैक्स क्या है – GST Ke Faayde Hindi में : वर्तमान में वस्तुओं और सेवाओं पर कर अलग-अलग लगाया जाता है। जीएसटी वस्तुओं और सेवाओं दोनों के लिए एक कर होगा। और इस  कर की दर समान होगी  के आधार पर कर की एक व्यापक रूप है।  यह वस्तुओं और सेवाओं पर लगाने जाने वाले सभी टैक्स को सम्मिलित/अंतर्गत करता  है।

कौन से करो को अंतर्गत करेगा जीएसटी / Which Taxes will be under GST :

केंद्रीय अप्रत्यक्ष करें जैसे केंद्रीय उत्पाद शुल्क, काउंटरवेलिंग ड्यूटी, सर्विस टैक्स, आदि सहित राज्य मूल्य वर्धित कर (वैट), चुंगी और प्रवेश कर, विलासिता कर को जीएसटी अंतर्गत करेगा। मतलब यह सब करो के बदले एक ही कर होगा – जीएसटी  

देश की संघीय प्रकृति को देखते हुए, भारत में जीएसटी दोनों एक केंद्रीय और एक राज्य जीएसटी सहित एक दोहरे जीएसटी का रूप में होने की उम्मीद है।

Good and Service Tax Kya hai - what is GST and its benefits
What is GST, Benefits in Hindi Image : Business Standard

जीएसटी के क्या फायदे हैं / Benefits of Goods and Service Tax

१. कर का बोझ कम (Reduce the Tax Burden)

जैसे की हमने देखा केंद्रीय उत्पाद शुल्क, काउंटरवेलिंग ड्यूटी, सर्विस टैक्स, आदि जैसे कई कर जीएसटी  अंतरगात करेगा। इन सब  करो के बदले एक ही कर भरना पड़ेगा। इससे करों का व्यापक बोझ व्यक्तियों के लिए कम हो जाएगा। 

२. उपभोक्ता वस्तुओं की कीमतों में कमी (Reduction in Consumer Goods Price)

यह माना जाता है कि जीएसटी उपभोक्ता वस्तुओं की कीमतों में 5-7 फीसदी की कमी ला सकता है।

३. सकल घरेलू राष्ट्रीय(GDP) उत्पाद में बढ़ोत्री  (GDP will Increase)

उपभोक्ता वस्तुओं की कीमतों की गिरावट से खपत काफी बढ़ जाएगी। खपत वृद्धि से उत्पादन में वृद्धि होगी और सकल घरेलु राष्ट्रीय उत्पाद बढ़ेगा। यह उम्मीद है की जीएसटी से  राष्ट्रीय  सकल घरेलू उत्पाद में 2 फीसदी की बढ़त्री  होगी।

४.व्यापार में आसानी  (Ease in doing Business)

व्यापार करना आसान हो जायेगा है क्यों की विभिन्न कराधान के बदले एक ही कर भरना पड़ेगा।

५. जीएसटी कर अधिकारियों की ओर से कर जमा करने में गड़बड़ी की संभावना को कम करेगा क्यों की यह समझनेमें काफी आसान होगा।  

६. जीएसटी कर प्रशासन को सरल बनाएगा। जीएसटी के तहत कर चोरी नाटकीय रूप से नीचे आ जाएगा। जो लोग निर्माण के स्तर पर कर से बचते है उनपे  वितरक, थोक या खुदरा विक्रेता मंच पर कर लगाया जायेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *