Kargil Vijay Diwas के 17 साल पूरे, कारगिल के शहीदों को शत शत नमन

17th Kargil Vijay Diwas Celebrations, Indian army recaptured Indian posts in Kargil after Operation Vijay :  आज कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) है। 1999 में आज ही के दिन भारत ने कारगिल की जंग में पाकिस्तान पर विजय दर्ज की थी और जीत का एलान किया था । इसी दिन को हर वर्ष विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है । ऑपरेशन विजय के इस मिशन में भारतमाता ने अपने सेंकडो सपूत खोये थे । इसी ऑपरेशन के नाम पर इस दिन का नाम “कारगिल विजय दिवस” रखा गया। हमारे देश के जवानो ने अपनी जान की प्रवाह किए बिना देश की आन बान और शान की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। Masalaread.com  देश के वीर सपूतो और शहीदों के बलिदान को शत शत नमन करता है।

Kargil war tiger hill recapture Vijay diwas
Kargil Vijay Diwas : Tiger Hill

2 महीने तक चला Kargil Yudh

वर्ष 1999 में भारत और पाकिस्तान के बीच जो युद्ध हुआ भारत ने 26 जुलाई 1999 को विजय पताका फहराया। भारत ने पाकिस्तानी घुसपैठियों द्वारा हडपी गयी प्रमुख चौकियो पर विजय प्राप्त की। यह युद्ध 60 दिन से भी ज्यादा समय तक चला था। इस युद्ध में भारत और पाकिस्तान के अनेको सैनिक मारे गये।

कारगिल विजय दिवस के अवसर पर इंडिया गेट के अमर जवान ज्योति स्थल पर देश के भावी प्रधानमंत्री हर साल देश के बहादुर सैनिको को श्रधान्जली देते है। और विभिन्न स्थानों पर देश के बहादुर जवानों को याद किया जाता है और समानित किया जाता है।

17th Kargil Vijay Diwas celebration, tribute to martyrs amar jawan jyoti
Amar Jawan Jyoti, Delhi

ऑपरेशन बद्र (Operation Badr, 1999) 

1998-99 में सर्दियों में पाकिस्तानी सेना का एक दल आंतकवादियो के साथ मिलकर LOC नियंत्रण रेखा cross करके भारतीय सीमा में घुस आया था और कारगिल की पहाडियों पर कब्जा कर लिया था। उन्होंने इसे ऑपरेशन का नाम “ऑपरेशन बद्र” रखा था। उनका उदेश्य लद्दाख और कश्मीर के बीच के लिंक को तोडना था जिससे भारतीय सेना सियाचिन गलेशियेर से पीछे हट जाए और पाकिस्तान भारतीय सरकार को कश्मीर मुद्दे पर अपनी बात मनवाने के लिए दवाब बना सके। पाकिस्तान का एक उद्देश्य इसके जरिये कश्मीर मुद्दे का अन्तराष्ट्रीयकरण करना भी था।

ऑपरेशन विजय (Operation Vijay)

मई 1999 में इस घुसपैठ का पता चलते ही भारतीय सेना ने Operation Vijay की घोषणा की दोनों सेनाओ में भीषण युद्ध हुआ। पहाड़ की ऊंचाई पर कब्ज़ा होने के कारण दुश्मन की सेना को रणनीतिक लाभ मिला। लेकिन भारतीय सेना के जज्बे और तगड़े प्रहार के आगे वे टिक न सके और जल्दी ही उनके पाँव उखड गये। जल्दी ही कारगिल की सभी चोटियो पर भारतीय परचम लहराने लगा । 26 जुलाई 1999 को भारत ने विजय की घोषणा कर दी।

कारगिल युद्ध से जुड़े कुछ आंकड़े (Figures, Kargil War)

समय : मई – जुलाई 1999

युद्ध क्षेत्र : जिला कारगिल , जम्मू एंड कश्मीर

नुक्सान (भारत) :

शहीद सैनिक : 527

घायल : 1363

युद्धबंदी : 1

ध्वस्त लड़ाकू विमान : 1

क्रेश लड़ाकू विमान : 1

ध्वस्त हेलीकाप्टर : 1

नुक्सान (पाकिस्तान) :

मारे गये सैनिक : 357-453

घायल : 665 से अधिक

युद्धबंदी : 8

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *